बाई की सेक्सी वीडियो

బెడ్ రూమ్ సెక్స్

బెడ్ రూమ్ సెక్స్, मैं:=ओह्ह्ह्ह हा उम्म्म उफ्फ्फ्फ़ क्या लंड है आपका नानाजी उम्म्म्म और जैसे आप चोद रहे हो हाय रे उम्म्म्म ऐसा लगता है बस आप युही मेरी चूत चोदते रहो जिंदगी भर उम्म्म्म ये रात कभी खत्म ही ना हो। charpari charcharati awaaz nikaal rahi thi....samar bheech bheech ke randi kasak ki chaatiyo ko khub masal raha tha...wo kasak ke upar niche ho rhaa tha aur kasak ki choot bhi buri tarah se ooske lund ko apne andar bahar kheech rahi thi chodh rahi thi....

ओह्ह्ह्ह...राजेश, अब तुम्हे जाना चाहिए...उम्म्मम...बस करो...आऐईई…उई!!!! रिंकी की एक मदहोश करने वाली सिसकारी सुनाई दी और मैंने फिर से अपनी नजरें उन दोनों पर गड़ा ली थीं । मेरा एक हाथ लंड पर ही था। डॉली दीदी ने मेरी तरफ आँख गोल गोल घुमा के देखा और मेरे सोफे के सामने वुडन फ्लोर पर बैठ गयी. दीदी ने नाइट्गाउन पहन रखा था और उनके बाल अभी भी थोड़े गीले थे.

मैं:=हा नानाजी चोदिये जोर से और और उम्मम्मम्माह्ह्ह्ह्ह् आज मेरी भी चूत का भोसड़ा बना दीजिये अपने लंड से उम्म्म्म्म्म्म्म दाल दीजिये अपना पानी मेरी चूत में उफ्फ्फ्फ्फ्फ अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह। బెడ్ రూమ్ సెక్స్ मुन्नी बुआ अब और ज़ोर से साँसें ले रही थी, और बीच बीच में उनकी साँस फूल भी जाती थी, मैं अब भी बुआ की चूत के दाने को अपने जीभ से छू छू कर छेड़ रहा था.

साल की लड़की सेक्सी वीडियो

  1. मामी:=अगर अब तुम दोनों को अब भी अजीब लग रहा है तो नीरज के कमरे में जाओ। क्यू आज तो मैं (नानाजी का लंड वो बड़ी ही बेशर्मी भरी अदाओ से पैजामे के ऊपर से पकड़ते हुए ) इस लंड का मजा लिए बगैर नहीं जाउंगी।
  2. मुझे आपका ये लंड बहुत अच्छा लगता है, मैं बोली. फिर मैने अपना एक हाथ बढ़ाकर उसको अपनी मुट्ठी में भर लिया. भैयआ के मूँह से आहह निकल गयी. मैं खिसक कर भैया के और नज़दीक आ गयी. जंगल में मंगल सेक्सी चुदाई वीडियो
  3. हम्म्म...मेरी रानी...मेरी जान...ये ले... मैं भी आया... क्या गर्मी है तुम्हारी चूत में... मैं पागल हो गया रिंकी... हम्म्म्म... मैं अब अपनी चरम सीमा पे था। मैं डरते डरते आगे बढ़ा और अपने हाथ के लोटे से सूरज को जल अर्पित करने लगा, यकीन मानिए कि मेरे हाथ इतने काँप रहे थे कि मेरे लोटे से जल गिर ही नहीं रहा था। जैसे तैसे मैंने पूजा पूरी की और वापस मुड़ कर जाने लगा। तब तक आंटी ने सारे कपड़े सूखने के लिए डाल दिए थे।
  4. బెడ్ రూమ్ సెక్స్...नेहा मेरे पास आयी और मुझे बाहों में कस लिया और मैं कुछ समझ पाती उससे पहले उसने मुझे किस्स करना सुरु कर दिया। मैं उसे छुटने की कोशिश कर रही थी पर उसने मेरे होठो को इस तरह से अपने होठो में कैद किया हुआ था की मैं चाह कर भी कुछ नहीं कर पा रही थी। आह! अहह! ह्ह्र्र्र्ग्ग्ज्ज्ज्ग्च्च्च! डॉली ने अपनी चूत की मसल्स को अपने भाई के लंड के उपर सिंकॉड लिया, और उसके सारे शरीर में ऑर्गॅज़म की मस्ती छा गयी. काँपते और बदन में झटके मारते हुए डॉली हाँफ रही थी, उस ओरगांस की मस्ती पर सवार होकर डॉली अपने भाई की छाती के उपर ढेर हो गयी.
  5. हम दोनों बहोत उत्तेजित हो चुकी थी। दोनों का सर चूत पे दबा रही थी और अपनी गांड उठा उठा के उन्हें चूत चटवा रही थी। उफ्फ्… ऐसा मत करो… प्लीज, कल रात भर में तुमने इन्हें इतना बेहाल कर दिया है कि हल्का सा स्पर्श भी बहुत दर्द दे रहा है… छोड़ो न !! प्रिया ने अपने चेहरे का भाव बदलते हुए दर्द भरी सिसकारी ली और मेरे हाथों पे अपना हाथ रख दिया।

हिंदुस्तान की सेक्सी पिक्चर

उस समय मुझे नहीं पता था कि ये क्या था, इसलिए मैं सीधा मिली की मांसल भरी हुई जाँघों पर से होते हुए उनके कोमल पैरों पर पहुँच गया।

जब मैं और डॉली दीदी मेरे रूम को खोल कर अंदर पहुँचे तो तान्या उसी घाघरा चोली पहने हुए, गहरी नींद में सोई हुई थी. दीदी ने मुझे इशारों में डोर को बंद करने के लिए बोला, और खुद जाकर कर्टन के पीछे छुप गयी. और मुझे तान्या को उठाने के लिए इशारा करने लगी. मैं भी अपनी कमर उठा-उठा कर राज साथ देने लगी थी, बस अब मैं पानी छोड़ने से कुछ ही पल दूर थी और उसके धक्कों से भी अंदाजा हो गया था कि अब वो भी मेरी योनि में अपना रस उगलने को हैं।

బెడ్ రూమ్ సెక్స్,अब मैने मिली की दोनो टाँगे फैला दी आज पहली बार उसकी चूत मेरे सामने इतनी पास थी क्या नज़ारा था उसकी चूत के होंठ आपस मे जुड़े हुए थे और बार बार कंपकपा रहे थे उसकी चूत का मूह पानी छोड़े जा रहा था मैने धीरे से अपनी एक उंगली उसकी चूत के अंदर घुसा दी और आगे पीछे करने लगा

मौसी के निपल्स अब कड़े होने लगे थे, और उनको कुछ समझ में नही आ रहा था. मैं मौसी के मस्त मम्मों को निहार रहा था. फिर मैने अपने हाथ बढ़ा कर हल्के से उनके दोनो मम्मों को छूआ, और निपल्स के उपर अपनी उंगली गोल गोल घुमाने लगा.

accha samar haan ab yaad aaya arre wo ladka maa meri umar ka hai kaafi chatpata hai khub baat karta hai pata nahi ooski baatein bhi azib lagti hai kabhi kabhi anyway to wo yaha aaya tha?बीएफ सेक्सी हिंदी दिखाएं

मैं इधर उनके चूत चटाई और लंड चुसाई खेल में अपनी चूत रगड़ रगड़ के दो बार झड़ चुकी थी। मैंने आखे बंद की और सोचने लगी जैसे नानाजी ने मेरे चहरे पे उनका पानी गिराया हो। जिस तरह से दीदी मेरी शारीरिक ज़रूरतों का ध्यान रख रही थी, उस की वजह से मैं अब खुश रहने लगा था, कुछ दिन पहले मैं जिस डिप्रेशन से गुजर रहा था, वो अब नही था, जिस तरह से हम दोनो की बात चीत हुई थी उस से मुझे लगा कि दीदी को ऐसा नही लग रहा कि मैं उनका नाजायज़ फ़ायदा उठा रहा हूँ.

इस से पहले कि डॉली की साँस में साँस आती, धीरज ने डॉली के उपर आते हुए अपने फन्फनाते लंड को एक झटके में डॉली की चूत में पेल दिया. डॉली की नरम गीली चूत ने धीरज के लंड को अपने आगोश में भर लिया, और डॉली के हिप्स धीरज के झटकों के साथ उपर नीचे होकर ताल से ताल मिलाने लगे.

कार से निकलने से पहले तान्या ने मुझे अब तक की तीसरी किस दी... ये किस अब तक की सबसे ज़्यादा लंबी और गहरी थी... पहली दोनो किस्सस से कहीं ज़्यादा बेहतर और सच्ची...,బెడ్ రూమ్ సెక్స్ हम काफी देर तक वहीं घूमते रहे और बातें करते रहे और फिर वापस अपने अपने घर की तरफ चल पड़े। रास्ते में मैंने राजेश को यह खुशखबरी दी कि कल फिर से घर पर कोई नहीं होगा और वो अपन अधूरा काम पूरा कर सकता है।

News