தமிழ் செஸ் காமக்கதைகள்

सकाळी पोट साफ होण्यासाठी उपाय

सकाळी पोट साफ होण्यासाठी उपाय, मैं बोली- नहीं.. आज आपके भाई मूड में हैं और मैं कोई रिस्क नहीं लेना चाहती। अब सब कुछ दोपहर में होगा.. सबके जाने के बाद.. मैं उसकी जांघों को पकड़कर कपड़ों में से ही धक्के मारने लगा। मेरे हर धक्के से वो आगे को सरक जाती और फिर वापिस पिछे हो जाती। बहुत मजा आ रहा था ऐसे डर डर कर मजे लेते हुए।

मैं: आंटी ऐसे तो शायद प्रॉब्लम हो जायेगी, आप ऐसा करो मेरी पीठ पर बैठो, और मैं आंटी के आगे वाली सीढ़ी पर आकर खड़ा हो गया। पर मैंने उसकी एक न सुनी और बर्फ के टुकड़े को जैसे ही उसकी गर्दन से लगाता या कमर पर लगाता.. तो वो एक जोर की ‘आआआअह्ह्ह्ह्ह’ के साथ चिहुंक उठती।

मैंने सोनल की तरफ देखा तो वो मंद मंद मुस्करा रही थी। उसने मेरी तरफ देखा और आंख मार दी। मैं भी मुस्करा दिया। सकाळी पोट साफ होण्यासाठी उपाय मैं बहाना करके अपना लहँगा सही करके वैसे ही चुदी हुई बुर लेकर जाने को हुई.. तो एक बार मैंने फिर उससे पूछा- क्या मैं जान सकती हूँ.. मेरी बुर चोदने वाला और इस दमदार लण्ड का मालिक कौन है?

हिंदी सेक्सी पिक्चर बॉलीवुड

  1. तभी दीपक मेरी चूत पर दबाव बढ़ाने लगा, उसका सुपारा अन्दर जाता.. इससे पहले ही मैं छटपटाते हुए बोली- प्लीज.. नहीं ऐसे नहीं.. मैं मर जाऊँगी..
  2. नौकर यह सुनकर चोंक गया. उसे इस बात का इतना शॉक लगा कि मुझे कैसे पता कि वो उस नौकरानी पे लाइन मारता है. எ படங்கள்
  3. हवेली पहुँचने पर रणबीर को उसका नया आशियाना बता दिया गया. यह हवेली की चारदीवारी के भीतर ही बना हुआ एक कमरा और रसोई का मकान था. कमरे और रसोई के बीच एक बड़ा सा बरामदा था. बरामदे के बाहर कुछ पेड़ थे और एक तरफ एक कुँवा था पास ही एक बड़ा सा पठार की शीला थी जिस पर नाहया और कपड़ों की धुलाई की अब मेरी चूत खुद चुदना चाहती थी.. मैं गरम होती जा रही थी। एक बार तो मुझे महसूस हुआ कि मैं जाकर जेठ जी का खुद ही लण्ड पकड़ कर कह दूँ कि हिलाना छोड़ो.. और मेरी बुर आपके सामने खुली पड़ी है.. अपना बाबूराव डाल कर.. इसकी फांकों में अपने बाबूराव का सुपारा फंसाकर.. अपनी गरमी मेरी चूत में डाल दो।
  4. सकाळी पोट साफ होण्यासाठी उपाय...क्योंकि मेरी आदत भी अलग-अलग मर्दों के लण्ड से चुदने की पड़ गई थी और मैं जब से मथुरा से आई हूँ.. मुझे केवल ह्ज्बेंड के लण्ड से चुद कर संतोष करना पड़ रहा था। आंखें बंद करते ही मुझे सबकुछ घूमता हुआ महसूस हो रहा था, इसलिए मैं आंखें बंद नहीं कर पा रहा था। आंखें बंद करते ही ऐसा लग रहा था कि कोई मेरे बेड को उलट रहा है।
  5. फिर मालती रसोई के कोने मे लगे रणबीर के बिस्तर पर चिट लेट गयी और रणबीर को निमंत्रण देते हुए अपनी टाँगें खोल दी. रणबीर ने भी कोई देर नही की और 35 साल की चाची के भोस्डे मे एक ही थाप मे पूरा लंड डाल दिया. तो रूचि बोली- थोड़ा तो रुको.. मैं बहुत घबड़ा गई थी। ये तो कहो.. मैं अकेली नहीं थी.. वरना सब गिलास टूट जाते और कांच भी साफ़ करना पड़ता..

सेक्स वीडियो कैसे करते हैं

और जोश मे हिल रहा था जैसे दो चूतो को सल्यूट कर रहा हो. मैने डिजिटल कॅमरा स्टार्ट कर दिया और सारा सीन वीडियो की शकल मे सेव होता रहा और अपने मोबाइल से कुछ पिक्चर्स लेने लगा.

मैंने तान्या की तरफ देखा वो बैड पर बैठी हुई हमें देख रही थी। मैंने एकबार सोनल की तरफ देखा वो आंखें बंद किए लेटी हुई हल्के हल्के मुस्करा रही थी। विनय मेरे चूतड़ों से होते हुए कमर.. पीठ तक तेल टपका कर आहिस्ते-आहिस्ते से मेरे जिस्म की मालिश करते हुए मेरे चूतड़ों तक.. और कभी-कभी मेरी चूत पर भी हाथ फेर देता।

सकाळी पोट साफ होण्यासाठी उपाय,पति मुझे घोड़ी बनाए हुए थे.. इसलिए मेरी फूली हुई चूत बाहर को निकली हुई थी। ऐसे में पति के लण्ड का हर शॉट जब मेरी चूत पर कस-कस के पड़ता.. तो मेरी चूत निहाल हो उठती। पति का लण्ड मेरी चूत रगड़ता घिसता ही जा रहा था।

‘तुम यहाँ क्या कर रही हो.. और यह क्या.. तुम्हारे कपड़े तो कमरे में पड़े है.. और तुम यहाँ नाईटी में क्या कर रही हो? कोई तुमको इस हालत में देख लेता तो..?’

मैं: तुम्हें मेरे पेट और बनियान से क्या दुश्मनी है, इसको ठीक से रहने ही नहीं देती, सुबह ऑफिस जाते समय भी ऐसे ही।महाराणा प्रताप के पुत्र का नाम

मैं इसी तरह निरंतर उसके होंठों को चूसते हुए उसके मम्मों को रगड़े जा रहा था जिसमें माया का अंग-अंग उमंग में भरकर नाचने लगा था। अब मैंने लौड़े को उसके होंठों पर घिसने लगा.. और बीच-बीच में मुँह में ऐसे डालकर निकालता.. जैसे कांच वाली बोतल में अंगूठा घुसेड़ कर निकालो.. तो ‘पक्क’ की आवाज़ होती है.. ठीक उसी तरह..

मैंने फोन रख दिया और चलने के लिए बाहर आ गया और रूम को लॉक कर दिया। मेरी नजर पूनम वाली छत पर पड़ी तो वहां पर अंकल (पूनम के पिता जी) और उनके साथ एक लड़की कुछ सामान रख रहे थे। लड़की को मैं नहीं जानता था। मैं नीचे आ गया और दरवाजा नोक किया।

फिर क्या उसने भी चोदने की रफ्तार तेज़ कर दी और चिल्लाते हुए बोला- साली कुतिया.. ले.. अब तो तेरा दिल भर गया ना.. ले.. अब.. मैं भी अपना पानी छोड़ता हूँ आहाहा.. ओहहऽ सीसीई हायऽऽऽ मेरी रानी.. आहह सीय मज़ा आ गया।,सकाळी पोट साफ होण्यासाठी उपाय रूम में आकर देखा तो सभी लड़कियां बेड पर बैठी हुई थी और अपूर्वा उनके बीच में बैठी थी, जैसे सभी को कोई कहानी सुना रही हो। सभी लड़कियां बहुत गौर से उसकी बातें सुन रही थी।

News