हिंदी कैसे बोलते हैं

40 साल की लड़की

40 साल की लड़की, और मारे भी क्यों ना, आज उसे रोज़ की तुलना में ज़्यादा खुराक जो मिल चुकी है, आज लाला ने 8-10 बादाम और ज़्यादा जो घोंट लिए थे दूध के साथ…! उसके चारों तरफ लंबी और मोटी मोटी नसें उभर आई थी…, देखने से ही वो किसी लोहे की रोड जैसा सख़्त लग रहा था…

परिधि....मैंने सोचा राहुल जी अब परेशान हो गए होंगे कुछ सूझ न रहा होगा की क्या सजा दे, तो मैंने सोचा मैं ही कुछ मदद कर दुं । प्रिया ने ये बात ऐसे अधिकार भरे शब्दों में कही, की शंकर के हाथ स्वतः ही अपनी कमीज़ के बटनों पर चलने लगे…!

सुषमा ने अपने पैरों की केँची से उसे जकड़ते हुए कहा – हां मुझे भी ऐसा लग रहा है.., सच में कुछ अलग ही मज़ा है, हैं ना…, कुछ देर यौंही रहो.. बड़ा मज़ा आरहा है… 40 साल की लड़की उसने उसके होंठों पर एक प्यारा सा चुंबन किया, और उसके बदन को सहलाते हुए बोली – तुम्हारा आगे पढ़ना ज़रूरी हो गया है, वैसे भी तुम तो पढ़ना ही चाहते थे ना…!

न्यू सेक्स वीडियो हिंदी

  1. रंगीली ने उसके चेहरे के नीचे हाथ लगाकर उसे उपर किया, फिर उसकी आँखों में झाँकते हुए बोली – तू अपनी माँ के लिए ऐसी गंदी सोच रखता है नालयक, शर्म नही आई तुझे…!
  2. जब ज़्यादा गीलापन महसूस होने लगता तो वो इधर-उधर नज़र मारकर अपने पेटीकोत समेत पैंटी को मसलकर कम करने लग जाती…! ஜியோ டிவி டவுன்லோட்
  3. होशियार की नानी प्रिया ने किसी मजदूर को बुलाने की वजाय, खुद ही उसे खदेड़ने चल दी, उसकी सहेलियों ने मना भी किया…! तुम्हें सोते देखा, लेकिन तुम्हारा ये नाग लूँगी से मुँह चमका रहा था, सो देखने लगी कि ये सोट जैसा क्या छुपा रखा है तुमने इसमें…!
  4. 40 साल की लड़की...औरतों की बातों का कोई ओर-छोर तो होता नही बात में से दूसरी बात निकल आती है.., एक बार इनको खाना ना मिले तो भी चलेगा, लेकिन बातें…. सुषमा उसकी घुड़की सुनते ही मिमियाने लगी, उसने बिना कुछ कहे फ़ौरन उसे फिर से पकड़ कर अपने मुँह में गडप्प कर लिया, और लॉलीपोप समझ कर चूसने लगी…!
  5. शंकर अपनी उंगली को अंदर ही अंदर इधर से उधर गोल-गोल घुमाने लगा…, रस कुंड लबालब भरा होने की वजह से उसकी उंगली को चुत में इधर-उधर चलने से भी हल्की हल्की चप-चॅप जैसी आवाज़ आ रही थी… रंगीली – आपने देखा था कि उन्होने नज़रों से किया था या अपने लंड से ? जो चीज़ जिस काम के लिए ईश्वर ने बनाई है, वो उसी के द्वारा संभव होता है…!

kamaveri கதைகள்

लेकिन एक बात थी इन आने वाले मोल की दुल्हनों में कि ये लोगों की जिन्दगी में बहुत बड़ा बदलाव करके मानती थी. वो चाहे उसके पास रहें या लौट जाए लेकिन उस आदमी की मानसिकता जरुर बदलती थी जो इन्हें लेकर आता था. ये बहुत कम कीमत लगाकर खरीदी गयी वेमोल औरतें अपनी जिन्दगी को काटों पर पड़ी पाती थीं.

सुषमा – अरे नही, उन दोनो को वहीं बाहर ही खेलने दो, बेकार में गौरी यहाँ धमाल करेगी, हमें भी खेलने नही देगी, हो सकता है कार्ड ही फाड़ दे…! दिया ने तो उस दिन भी आप को कहा था पर अगले दिन से वही हाल रहा आपका। मालूम है सिमरन दी तो एक दिन बहुत रोई आप को ऐसा देख कर।

40 साल की लड़की,इसके बाद मैं एक सब्द नहीं बोल, यदि कुछ पूछती या कहति तो केवल क्लोज आंसर हुह्, नहीं और हाँ ही बोलता । उसको शाम को घुमने की जिम्मेदारी ली थी सो मैं उसे यंहा से वंहा ये मार्किट से वो मार्किट घुमता रहा ।

उसने उँची आवाज़ में उससे कहा जिससे लाजो भी सुन ले..- बेटा देख तो रसोई घर में ठंडाइ का समान रखा है, थोड़ा सा छोटी बहू से पुछ्कर ला तो, साथ में कल्लू भैया के लिए भी बना दूं…

वो उसे अपने हाथ से सहलाते हुए बोली – हाईए राम… ये तो अभी से इतना बड़ा है.., आगे चलकर और कितने रूप बदलेगा…!மதர் சன் செக்ஸ்மூவி

अचानक रास्ते में चलते चलते वो गिर पड़ी. राणाजी ने उसे अपना सहारा दे उठाया और उसका हाथ पकड़ चलने लगे. राणाजी का घर गाँव के इसी छोर पर पड़ता था. उन्होंने घर आते ही अपनी दुल्हन का हाथ छोड़ दिया. उस रात सुबह भोर होने तक वो दोनो चुदाई का भरपूर अनद उठाते रहे, लाला के अनुभवों ने रंगीली के बदन का पोर-पोर हिला डाला था,

आहह….सस्सिईईई….उउफ़फ्फ़ ….जो भी हो पर मज़ा आ गया.., अब पेलो मेरे राजाजीी… ज़ोर-ज़ोर से, फाड़ दो मेरी चूत.

उसके मदमस्त यौवन को यूँ छलकते देख कर लोगों की नज़रें उस पर जम गयी.., कुछ देर में ही वो उसके अत्यंत नज़दीक पहुँच गयी, और पीछे से उनसे पुकारा – शंकर…, रूको…!,40 साल की लड़की 10 मिनिट बाद दोनो अगल बगल में लेटे एक दूसरे को किस कर रहे थे, शंकर का लंड अभी भी खड़ा ही था, जो रंगीली की जांघों के बीच अठखेलिया कर रहा था..

News