हिंदी सेक्सी मूवी वीडियो एचडी

सोते समय मुंह से लार गिरने का कारण

सोते समय मुंह से लार गिरने का कारण, अरे मदन ने उठ कर बिस्तर ठीक कर दिया होगा, तू भी बस बेकार की बाते सोचती रहती है --- सरिता ने जवाब दिया तब तक बारिश भी थम चुकी थी पर हवा अभी भी चल रही थी जिसके कारण हम सभी को ठण्ड भी लग रही थी, इसलिए सबसे पहले प्रिया ने बेड से दो ही रजाई निकाली और हम चारों उन दोनों रजाई में बैठ कर बातें करने लगे क्योंकि अभी 9:30 ही बजे थे।

हम दोनों की हालत रोने जैसी थी हालांकि मैं तो रो ही रही थी, पर उनके मुँह से ऐसी आवाज निकल रही थी कि जैसे अगर नहीं मिला तो वो मर ही जायेंगे। मैंने प्रिया को बातों में लगाये रखा और साथ साथ ही उसकी चूचियों को भी सहलाता रहा पर उसकी चूत से अपना लण्ड बाहर नहीं निकाला।

मुझे ना तो कुछ सुनाई दे रहा था और ना दिखाई। मेरे बदन से कई जगह से खून बह रहा था। वो मुझे अपने घर ले गये और डाक्टर को बुलाया। मेरे जख़्मों पे मरहम लगाया। मुझे पलंग पे लिटाया। फिर जेबा को गर्दन से पकड़कर लाया और कहा- देख इसका हाल इसके लिए तू जिम्मेदार है। सोते समय मुंह से लार गिरने का कारण उसने अब अपनी जीभ मेरी योनि के छेद में घुसाने का प्रयास शुरू कर दिया। मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैंने अपने दोनों हाथों से योनि को फैला दिया और अमर उसमें जीभ डाल कर चूसने लगा।

कॉल बॉय क्या होता है

  1. गोरा उसकी चूचियां की चटनी बना रहा था। उसकी बीवी मुझसे आकर लिपट गयी। गोरे ने जेबा की ब्रा निकाल दी और निपल पकड़ ली। वो उसे मरोड़ रहा था।
  2. अमर मेरी हालत देख समझ गया कि मैं झड़ने वाली हूँ, उसने पूरी ताकत के साथ मुझे पकड़ा और मेरी आँखों में देखा। सलमान खान की पहली फिल्म
  3. शाम को थक हार कर हम अपने कमरे मे आए और सो गये. दूसरे दिन सुबह हमने होटेल का बिल भरा और एरपोर्ट की और चल दिए. चुदाई के इस दौर मे सब इतने थके हुए थे कि पूरे सफ़र में हम सब सोते रहे. और उसे जीतता देखकर राणा भी काफ़ी खुश था...दरअसल वो चाहता भी यही था..क्योंकि अगर वो जीत जाता तो काजल उसकी इस झूटी टोटके वाली बात पर कभी विश्वास नही करती...अब तो राणा को एक तरीका मिल गया था उसे उत्तेजित करने का...उसे अपनी तरफ आकर्षित करने का..
  4. सोते समय मुंह से लार गिरने का कारण...‘ध्यान रखना चंदू, बीवी नहीं हूँ जो सबकुछ सह जाऊं। उसी हद तक सह सकती हूँ जहां तक मेरा ज़मीर गवारा करे।’ और इसके साथ साथ प्रिया ने अपनी चूत में मेरा लण्ड जकड़ लिया और अपनी चूत से पानी छोड़ने लगी, और वो मुझसे ऐसे चिपक गई जैसे दीवार पर छिपकली।
  5. मगर बबलू के लिये समझना आसान नहीं था… यह बदनामी उसे इतना ज्यादा शर्मिंदा कर रही थी कि वह डिप्रेशन में रहने लगा था। अपनी जीभ से उसके कान को सहलाने लगा. साथ ही मेरा जिस्म अपने आप आगे-पीछे होने लगा. मेरा लंड उसकी जाँघों के अंदरूनी हिस्से से रगड़ने लगा. मेरी हरकतों से वहीदा की गर्मी बढ़ने लगी. उसकी सिसकारियां निकलने लगीं और उसके

youtube रोमांटिक वीडियो

प्रिया– भाई, आपने मेरी इसकी (अपनी चूत पर हाथ रखते हुए बोली) तो मालिश की ही नहीं, अपने इससे (मेरे लण्ड को दबा कर) करो न भाई!

उन्होंने अपना मुँह खोला और लण्ड को उसमें डालने ही वाली थीं की उनकी पकड़ ढीली हुई और मेरे लण्ड ने एक और पिचकारी मारी जो मेडम के हलाक तक चली गयी होगी। उन्होंने मुँह बंद किया, वो मनी की धार निकलती गयी मेडम का पूरा मुँह भर गया उन्होंने गटागट गटक लिया। काजल ने अपनी जांघे भींच ली और अंदर देखने लगी...उसका एक हाथ उपर रेंगता हुआ आया और अपनी ब्रेस्ट को पकड़ कर धीरे-2 भींचने लगा.

सोते समय मुंह से लार गिरने का कारण,उसका लंड खड़ा होकर काजल के नीचे वाले दरवाजे पर दस्तक दे रहा था...काजल को फिर से वही रात वाला सीन याद आ गया...जब वो उसके लंड को पकड़कर हिला रही थी..और उसे चूमने भी वाली थी.

कॉल करने के बाद भी मैने उसका सेल फोन उसे नही दिया था बल्कि मेरे हाथ में ही था फिर में उसके सेल की ब्रोज़िंग करने लगी. जय ने मुझे रोकना चाहा ऑर अपने होंठ मेरे कानो से छू कर ऑर अपना हाथ मोबाइल की तरफ बढ़ा कर बोला,

इधर मेरी हालत भी बहुत ही पतली हो रही थी मेरा हाथ मेरी चूत पर था ऑर मेरी चूत बिल्कुल पानी पानी हो रही थी.फ्री फायर कौन से देश का है

रात को पति जब खाना खा रहे थे तो उन्होंने बताया के उनको सुबह बेलपहाड़ नाम की किसी जगह पर जाना है, कोई मीटिंग और ट्रेनिंग है, मैं उनका सामान बाँध दूँ। पीछले दिन जीवन ने वीर को रसोई में रेणुका के मूह पर थप्पड़ मारते हुवे देख लिया था. उस वक्त जीवन ने आकर वीर को समझाया था कि बहू पर इस तरह हाथ उठाना अछा नही होता.

और वो वहीं नही रुकी...उसने काजल के पैरों पर भी अपनी जीभ की कलाकारी दिखाई...ये सब करते हुए उसको खुद भी काफ़ी मज़ा आ रहा था...

साजन भाई के लण्ड से निकला हुआ पानी मुझे कुछ हल्का सा नमकीन और खट्टा लगा जो मुझे बहुत पसंद आया और साजन भाई के लण्ड का पानी मुझे इतना अच्छा लगा कि मन करता था कि यह लण्ड हमेशा के लिए मेरा ही हो जाए और जब जी करे उसका पानी पी लूँ।,सोते समय मुंह से लार गिरने का कारण मैंने जब प्रश्नात्मक दृष्टि से जय को देखा तो जय ने कहा, चिंता मत करो, यह तुम्हारे लिए जुखाम, बदन में दर्द और बुखार की दवाइयां है। इन्हें मैं डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के अनुसार दवाई की दूकान से लाया हूँ। और एक और बात, आप जब सो रहीं थीं तो मैंने न तो आपके कपडे उतारे और न ही कोई गलत काम किया है।

News