हिंदी भाषा सेक्सी पिक्चर

छोटे बच्चों का हॉस्टल कहां पर है

छोटे बच्चों का हॉस्टल कहां पर है, निशा भाभी बोली अरे आप सब ने इसके जाने की बात सुनकर, इस तरह से अपना चेहरा क्यो उतार लिया है. हम सबको तो खुश होना चाहिए कि, ये जिस काम से यहाँ आया था, उसे पूरा करके जा रहा है. सीरत बोली आपका दिया हुआ गिफ्ट, उसे मिल गया था. लेकिन वो आपसे बहुत नाराज़ थी, इसलिए उसने वो गिफ्ट खोल कर भी नही देखा. अब कहीं ऐसा ना हो की, आपको देख कर वो स्कूल से आने से ही मना कर दे. उसका गुस्सा तो आप जानते ही है. मगर इस सब से मुझे क्या. चलिए आरू की स्कूल चलते है.

मैं बोला हर बच्चे को उसकी माँ ही दुनिया की सबसे अच्छी माँ लगेगी. इसलिए इस बात मे हम बहस ना ही करे तो, ही अच्छा रहेगा. मुझे ऐसी बात की शिखा से उम्मीद नही थी और ना ही ये बात शिखा के स्वाभाव से मेल खाती थी. इसलिए एक पल के लिए उसकी इस बात ने जहाँ मेरी बोलती बंद कर दी. वही निक्की का चेहरा भी उतर गया.

आंटी की बात सुनकर सबके चेहरे पर मुश्कुराहट आ गयी. मैने मेहुल को डीजे चालू करवाने को कहा और फिर मैं छोटी माँ के साथ उपर आ गया. हमारे साथ साथ शिखा दीदी भी उपर आ गयी थी. लेकिन उनके चेहरे पर अभी भी बेचैनी बनी हुई थी. जिसे देख कर छोटी माँ ने मुझसे कहा. छोटे बच्चों का हॉस्टल कहां पर है कीर्ति की ये बात याद आते ही मैं समझ गया की, वो अभी मुझसे नाराज़ नही है. दो दिन बाद वो मुझसे बात करने की पहल कर रही थी. ऐसे मे उसको नाराज़ करना मुझे ठीक नही लग रहा था. मैने उसे प्यार से समझाते हुए कहा.

सेक्सी बीएफ एचडी इंडियन

  1. हम सब अपनी आँसू भरी आँखों से दूर जाते हुए देखने लगे और शिखा दीदी भी अपनी आँखों मे आँसू भरे पलट पलट कर हम लोगों को देख रही थी. फिर कुछ ही देर मे शिखा दीदी हमारी नज़रों से ओझल हो गयी.
  2. जिसके बाद सब शिखा दीदी के घर आ गये. शिखा दीदी के घर पहुचते ही अजय ने टाइम देखा तो, अब 5 बज गये थे. ये देखते ही अजय ने मुझसे कहा. कल्याण का कल्याण का चार्ट
  3. शिखा बोली सबको हमारे घर आए बहुत देर हो गयी है. अब खाने का टाइम भी हो रहा है. क्या सबको खाना खाए बिना जाने देना ठीक रहेगा. प्रिया ने भी येल्लो ड्रेस पहनी हुई थी और जब उसने छोटी माँ को येल्लो साड़ी मे देखा तो खुश होते हुए उनकी साड़ी की तारीफ करने लगी. ऐसे ही बातों बातों मे प्रिया ने छोटी माँ से कहा.
  4. छोटे बच्चों का हॉस्टल कहां पर है...अजय बोला आए रूको, एक तो ग़लती करते हो और अपनी उस ग़लती की सज़ा अपनी बेटी को देना चाहते हो. वो तुम्हारी बेटी ही नही, मेरी बहन भी है और मेरी बहन की डॉली मेरे होते कोई उठने से नही रोक सकता. ये पैसे लो और खुशी खुशी उसकी शादी करके मुझसे आकर मिलो. मैं बोला हां, तुम ठीक कह रहे हो. कल मेरा उस से ज़रा झगड़ा हो गया था. इसलिए कल से मेरी उस से बात बंद है.
  5. प्रिया बोली भाभी, आपको ये सेट बहुत महगा लग रहा है. इसलिए आपको इस से ये लेना अच्छा नही लग रहा है. लेकिन आपको पता नही की, इसने शिखा दीदी को बहुत सारे गहने और एक कार गिफ्ट मे दी है. मैं अजय के साथ खड़ा ये सब देख रहा था. जब मैने देखा कि, शिखा उनकी किसी बात का कोई जबाब नही दे रही है तो, मैं उसके पास गया और उस से कहा.

आज की सेक्सी बीएफ

लेकिन उसने ये बात अज्जि से कभी पूछी नही. शिखा बार बार उस से अपनी टॅक्सी चलाने के बारे मे पूछती रहती थी और एक दिन अज्जि ने इसके लिए हां कर दिया. लेकिन अज्जि ने कहा कि, वो टॅक्सी आरू के हॉस्पिटल से छुट्टी होने के बाद ही चलाएगा और टॅक्सी को अपने पास ही रखेगा. जिसके लिए शिखा तैयार हो गयी.

उसकी इस हरकत को देख कर कोई भी ये ही कहता कि, वो मेरे साथ मज़ाक कर रही है. लेकिन उसकी इस हरकत से मैं आज सही मायने मे उसकी झूठी हँसी का मतलब समझ पाया था. उसकी इस झूठी हँसी हमेशा एक ही मतलब होता था कि, ना खुद उदास रहो और ना ही दूसरो को उदास रहने दो. मगर शायद कीर्ति को मेरे गुस्से का अहसास नही हुआ था या फिर शायद आज वो मुझसे किसी भी बात मे, हार ना मानने की ज़िद किए बैठी थी. इसलिए उस पर मेरी इस बात का भी उल्टा ही असर पड़ा. उसने मुझे, मेरी बात का जबाब देते हुए कहा.

छोटे बच्चों का हॉस्टल कहां पर है,मगर अब उसकी ये हँसी मेरे दिल को चोट पहुचाती थी. मैं उसके चेहरे पर नकली हँसी नही, बल्कि हमेशा असली हँसी देखना चाहता था. इसलिए अब मैने प्रिया के कोई सवाल करने का इंतजार करना ठीक नही समझा और खुद ही उसे रात को रिया से हुई वो बातें बताना सुरू कर दिया, जो बातें उसके लिए जानना ज़रूरी था.

क्योकि सच तो यही था कि, मेरे बाप ने जिस थाली मे खाया था, उसी मे छेद किया था. जिस घर के लोगों ने हमें अपना समझ कर सहारा दिया था. मेरे बाप ने उसी घर की लड़की के साथ ग़लत हरकत करके, उन लोगों की पीठ पर छुरा घोंपा था.

अमन बोला ये तुम क्या कर रही हो. अभी अभी मैने इन सबको समझाया और अब तुम इन लोगों को फिर से वो सब करने के लिए भड़का रही हो.সানি লিওনের সেক্সের বই

सबकी खामोशी और शिखा दीदी, बरखा दीदी के आँसुओं को देख कर, मुझे लग रहा था कि, मैं बहुत ग़लत बात कह गया हूँ. इसलिए मैने इस बात के लिए शिखा दीदी और बरखा दीदी से माफी माँगते हुए कहा. यही सोचते हुए, मैने निक्की की तरफ देखा. वो शायद मेरे इस तरह से देखने का मतलब समझ गयी थी. इसलिए उसने डॉक्टर अमन के कुछ बोल पाने के पहले ही, डॉक्टर निशा से प्रिया को दिए जाने वाले खाने के बारे मे पुछा और उसके बाद हम उन लोगों को बात करता छोड़, वहाँ से उठ कर आ गये.

इतना बोल कर, सेलिना हँसने लगी. वो दोनो तो आरू का मज़ा लेना चाहती थी. लेकिन उनकी बात सुनकर निक्की को शायद ये लगा कि, वो लोग उसका मज़ाक उड़ा रही है. जिस वजह से उसका चेहरा उतर गया.

इसके बाद राज और मेहुल अंकल को लेकर घर के लिए निकल गये. उनके जाने के बाद मैने भी बाइक उठाई और अज्जि के बंग्लॉ की तरफ निकल गया. वहाँ जाकर मैने अपने समान की पॅकिंग की और फिर बाइक से ही राज के घर के लिए निकल गया.,छोटे बच्चों का हॉस्टल कहां पर है निक्की बोली मैं तो सिर्फ़ इसलिए यहाँ रुकने की ज़िद कर रही हूँ. ताकि यदि रात को ज़रूरत पड़ जाए तो, निशा भाभी या अमन भैया को आसानी से बुलाया जा सके. अब यदि इसके बाद भी तुम रुकना चाहती हो तो, मुझे तुम्हारे रुकने मे कोई परेसानी नही है.

News