ಕನ್ನಡ ಸೆಕ್ಸ್ ತೆಲುಗು

महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग अध्यक्ष व सदस्य 2021

महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग अध्यक्ष व सदस्य 2021, मुन्नी की बुर कब का पानी छोड़ चुकी थी। थोड़ी ही देर में हरिया के लंड से माल निकलने लगा तो उसने भी आह आह कर के मुन्नी की चूची पर अपना मुँह रख दिया। मुन्नी की बेजान चूची को वो मुँह में ले कर चूसने लगा। उसने अपना लंड मुन्नी के बुर से निकाला और मुन्नी के बगल में लेट गया। पर आज पहली बार सोफिया का दिल बहुत खुश था। एक अींजना सा एहसास उसे सता रहा था। वो गाना गुनगुनाती हुई अपने अब्बू का इंतजार करने लगती है।

अब क्या कहूँ, चाँस चाँस की बात है... वैसे भी अगर तुझे सही नहीं लग रहा था तो आज नहीं तो कल बात बिगडनी ही थी... सोफिया की चूत को ज्यादा से ज्यादा देर तक लण्ड चूत में चाहिए था। और अमन को ऐसी ह टाइट चूत जो उसे अपनी जवानी के दिन याद दिलाती रहे। दोनों हाँफने लगते हैं पर ना अमन अपनी स्पीड कम करता है और ना सोफिया कमर उछालना बंद करती है

आकाश ने एक्स्पोर्ट का काम किया हुआ था और भोपाल में बेस्ड था! सौम्य ग्वालियर के सिन्धिया स्कूल में था! आकाश को बनारस में साडी के किसी कारीगर से मिल के कुछ माल देखना था, इसलिये सौम्य भी साथ हो लिया क्योंकि उसका ननीहाल बनारस में था! महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग अध्यक्ष व सदस्य 2021 जीशान शीबा के बाल पकड़कर उसके होंठों पे अपना लण्ड घिसते हुये मुँह में डाल देता है और शीबा बड़े प्यार से उसे चुसती चली जाती है-गलप्प्प गलप्प्प… शीबा की चूत सुबह से पानी छोड़ रही थी उसे भी जीशान के लण्ड की आदत सी हो गई थी।

सेक्सी कैटरीना

  1. सोफिया-हुन्ने्ीं… गलपप्प-गलपप्प मुझे जो चीज पसंद आ जाती है वो मेरी हो जाती है और मैं उसे अपने से कभी अलग नहीं होने देती गलपप्प-गलपप्प…
  2. हम दोनों कुछ देर तक वैसे ही बैठे रहे, फिर माँ मुझ से प्यार करते हुए बोलीं- तूने आख़िर अपनी मनमानी कर ही ली.. पेपर 10 वी प्रश्नपत्रिका 2019 मराठी
  3. जीजाजी ने हाथ मुँह से हटा कर चूचों पर रख दिया और चूत ठोकने के साथ साथ आगे से चूचे मसल रहा था। मैं सुखसागर पर सवार हो गई थी और लौड़ा मुझे ठक ठक ठोक रहा था। जीजा के झटके दो मिनट में तो बहुत ही तीव्र हो गए और वो एकदम स्पीड से मुझे चोदने लगे। मैने दरवाज़ा पूरा ओपन किया और साइड मे हट गया.. वो घर मे चली गयी. मैने किचन मे से उसे पानी ला दिया और सीधा बेडरूम मे चला गया.. वो हॉल मे बैठी थी मुझे जाता देख कर उसने अपनी आखे नीचे झुका ली. मैं अपने रूम मे आ गया और अपने कपड़े कलेक्ट करने लगा नहाने जाने के लिए. वो मेरे रूम मे आई और देखने लगी..
  4. महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग अध्यक्ष व सदस्य 2021...दोनों चुदासी औरतों के बीच एक ऐसा समझोता हुआ था, जो आगे चलकर दोनों खानदान को फिर से एक करने वाला था। मगर दोनों इस बात से अंजान थीं कि इस सब में कितनी चूतें पिसेंगी। जहाँ अनुम जीशान को देखकर मुश्कुरा देती है, वहीं रज़िया किसी नई-नवेली दुल्हन की तरह अपने महबूब को देखकर शरमा जाती है। जीशान की सारी हरकतें, उसकी रात में किये हुई वो मोहब्बत के वादे, सभी एक पल में रज़िया को याद आ जाते हैं।
  5. वाह बेटा, चालू हो गया... सही है... गाँडू को तॄप्त कर दे... मैं वहाँ खुले आम कुछ करने में कतरा रहा था इसलिये मैने हल्के से दीपयान से अलग होने की कोशिश की! जीशान के लिए ये बात एकदम नई थी। वो तो सोच भी नहीं सकता था कि शीबा, उसकी अम्मी ऐसी कोई हरकत भी कर सकती है।

ಇಂಗ್ಲಿಷ್ ಬಿ ಎಫ್ ಎಚ್ ಡಿ

मेरी भाभी एक अच्छी और सुशील लड़की थी और उन का फिगर था ३८ २८ ३८ । जब वो चलती थी तो उन की गांड देख कर हर कोई यही चाहता था कि उन की गांड मारे।

जीशान की जीभ अनुम की चूत के इतना अंदर तक जा रही थी कि अनुम को ऐसे महसूस होने लगता है, जैसे जीशान उसे अपने जीभ से चोद रहा हो। देखो, बढिया बॉडी... बढिया है ना? मैने उसके बाज़ुओं के कटाव को देखा! फ़िर उसने अपनी टाँगें थोडा फ़ैला के अपना हाथ अपनी पैंट के ऊपर से अंदर घुसा के हिला के अपने आँडूए अड्जस्ट किये!

महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग अध्यक्ष व सदस्य 2021,रो मत बहू, आज थोड़े ना कर'ने वाले हैं. ये तो तुझे ब'ता दिया कि किसी दिन करेंगे. और एक बात है, वो जानवरों वाली पुस्तक तो लाना प्रीतम बेटा! प्रीतम जा'कर एक किताब ले आया. मेरी ओर देख'कर वह मंद मंद मुस्करा रहा था.

मेरी घबराहट देख कर सब हंस'ने लगे. प्रीतम तुरंत मेरी ओर बढ़ा. उस'की आँखों में भी मेरे प्रति प्यार और वासना उमड आई थी.

उसके बाद में मैं उसके मम्मों को कभी चूसता.. कभी दबाता और फिर मैंने अपने हाथों से उसकी चूत को सहलाना चालू कर दिया और वो जोर-जोर से सिसकारियाँ लेने लगी।ಫಿಲಂ ಸೆಕ್ಸ್ ಫಿಲಂ

सोफिया-अरे अब्बू , मैं आपको बताना ह भूल गई। आज सुबह दादी और अम्मी का काल आया था, आपसे बात करना चाहती थीं वो। जीशान का पानी निकल चुका था और साथ में हिम्मत भी जवाब दे चुकी थी। वो घर जाना चाहता। पहली चुदाई करने के बाद हर मर्द का यही हाल होता है, डर, पछतावा और घबराहट।

ये सुनते ही लुबना की पलकें शर्म से झुकती चली जाती हैं। जीशान दोनों हाथों में लुबना के चूत ड़ों को हल्के से दबाता है।

सफेद कलर के उस खूबसूरत ड्रेस में सोफिया को जब अमन देखता है तो देखता ही रह जाता है। कुछ पलों के लिए तो उसे ऐसे महसूस होता है, जैसे रज़िया उसके सामने बैठी हुई है।,महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग अध्यक्ष व सदस्य 2021 चीकू ... तुम भी मत बताना ... मजा कितना आता है ना, अपन रोज ही मस्ती मारेंगे... हम दोनों ही अब आगे का कार्यक्रम बनाने लगे।

News