एक्स एक्स मराठी सेक्सी पिक्चर

रंगपंचमी हार्दिक शुभेच्छा

रंगपंचमी हार्दिक शुभेच्छा, सीमा तू? घंटी बजाने पर बाहर आई डॉली सीमा को देख कर थोड़ी अचंभित सी हुई और फिर नज़र उपर करके मानव की और देखा...,प्रेम तो अभी आकर बता रहा था तू किसी लौंडिया को लाने की बात कह रही थी... ये कौन है? हॅरी चुपके से उठा और दरवाजा बंद करके वहीं अपनी कमर सटा कर खड़ा हो गया,ऐसे कैसे चली जाओगी... एक 'किस' तो तुम्हे देनी ही पड़ेगी आज!

साले.. बहनचोड़.. तेरे बंड्ल तो हम छत्वयेन्गे.. हमारे गाँव की लड़कियों के साथ... इस आवाज़ के तुरंत बाद हमें 'सर' के करहने की आवाज़ सुनाई दी... ओके ओके.. बताती हूँ.., मीनू ने कहा और फिर मेरी और देख कर बेचारा सा चेहरा बनाकर बोली, प्लीज़ अंजू.. तुम बता दो ना...

सरिता: शालू, एक बात बोलूँ, जैसे बाक़ियों के साथ तेरे पापा ने अदला बदली की थी इनके साथ भी कर लें? मतलब तेरी और रवीना की अदला बदली। रंगपंचमी हार्दिक शुभेच्छा अच्च्छा.. ये! वो मुस्कुराते हुए बोली.., पता नही.. मुझे ऐसे ही बोलना अच्च्छा लगता है.. और खास तौर पर तब; जब मेरा... वह बोलते हुए रुकी और नज़रें झुका ली, जब मेरा प्यार करने का मंन हो!

देशी सेक्स विडियो

  1. यार परेशान मत हो.. उसको तेरे बारे में कुच्छ पता नही लगेगा.... मैं सब संभाल...... सीमा की बात अधूरी ही रह गयी.... मनीषा ने गुस्से से तमतमते हुए दोनो हाथों में उसका गला दबोच लिया..,जान से मार दूँगी तुझे... है कहाँ 'वो' जल्दी बता...
  2. मैं भी चलूं साथ.... पिंकी ने कहकर मुझे उलझन में डाल दिया... पर मीनू मेरे कुच्छ बोलने से पहले ही बोल पड़ी, नही... तू मेरे पास ही रह जा... मैं तुझे और कुच्छ भी बताउन्गि... हिंदी ३क्स वीडियो
  3. हॅरी की बात पूरी होने से पहले ही उस आदमी ने रेवोल्वेर निकाल कर हॅरी की कनपटी से सटा दी....,चल बाहर निकल.... गुरुकुल की लड़की के साथ मस्ती करता है सस्सला! क्यूँ...? 10-15 मिनिट के लिए क्यूँ...? जा रही हो तो पूरी मस्ती करके आओ यार... यहाँ मैं संभाल लूँगी ना....! सीमा खड़ी होकर बोली....
  4. रंगपंचमी हार्दिक शुभेच्छा...जब वह नंगी होकर अपनी गंद मटका मटका कर मुझे दिखाती है तो मेरा लंड उसकी गान्ड फाड़ने के लिए बेकाबू हो जाता है, कभी कभी तो मैं उसे गॅस स्टॅंड पर चढ़ा कर भी चोदता हू, पर इसको छ्चोड़ना नही कमिने को.... मैं इसके खिलाफ एफ.आइ.आर. कारवँगा....! पापा ने पिछे हट'ते हुए कहा.....
  5. डॉली और सन्नी एक दूसरे के सामने बैठे होते है सन्नी इधर उधर देखता है और डॉली सन्नी को बड़े गोर से देखती है और हल्का सा मुस्कुरा कर सन्नी के हाथ के उपर अपने हाथ को रखते हुए क्या बात है तू मुझसे नाराज़ है क्या, से चूमता हुआ उसके दूध की गहराई मे अपने मूह को घुसा कर चूमने लगता है डॉली अपनी कलाई को सन्नी से छुड़ाने

ब्लू पिक्चर देखें

ठीक है.. नही बताना तो मत बता.. आज के बाद मेरे से बात मत करना! पिंकी भड़क कर उठने लगी तो मैने उसका हाथ पकड़ लिया..,बता तो रही हूँ.. रुक तो सही...!

नही दीदी.. ये सब तो आदमी पीते हैं... मैं नही पियूंगी... गिलास अपनी तरफ बढ़ता देख श्वेता अचकचा सी गयी.... मैं तो मीनू...ओह्ह्ह... अपना नाम बताने के बाद मीनू को लगा कि उसको नाम नही बताना चाहिए था.. उसने तुरंत फोन काट दिया.., कोई लड़की किसी सुनील को पूच्छ रही थी... मैने अपना नाम बता दिया खंख़्वाह...

रंगपंचमी हार्दिक शुभेच्छा,हां.. 'वो' तो मैने आते ही ले ली थी... मैने कहने के बाद उस'से पूचछा.., तू हमारे घर चलने के लिए क्यूँ कह रही थी....

ऊओ हू हूओ.. आआआहह.. तुम इसको काट कर ले जाओगी क्या? क्यूँ मुझे तडपा रही हो..... जल्दी से चूसना ख़तम करो... बिना चोदे तुम्हे आज जाने नही दूँगा यहाँ से.... उसने पहली बार अश्लील शब्द का इस्तेमाल किया था... उसके मुँह से 'ये शब्द सुनकर मैं निहाल ही हो गयी...

इसके साथ रेप मत करो यार... ये तो 'प्याआर' करने की चीज़ है स्साली...! सुनील ने आगे जाकर अंजलि के नितंबों को सलवार के उपर से ही मसलता हुआ उसके उभारों को अपनी छाती पर रगड़ने लगा...,बोल... प्यार से कर लेगी ना?मराठी लग्न पत्रिका मजकूर

ऐसे बोलॉगे तो मैं नही आउन्गि...! पिंकी ने कहते ही फोन काट दिया..... उसके गालों पर हया का गुलबीपन पसर गया था.... तभी सरिता किचन से आकर बोली: और मेरा क्या होगा? मैं तो दिन भर सबकी सेवा करूँगी और सबके सामने थोड़े आपसे चूदवा सकूँगी?और आपनेमेरी ऐसी आदत लगा दी है कि मुझे रोज़ आपका ये चाहिए। ऐसा बोलते हुए वो उसका लंड पैंट के ऊपर से पकड़ ली।

पिंकी....! चेहरे पर बँधी पट्टी के हटते ही अंजलि लगभग चिल्ला पड़ी...,पिंकी को बचाओ जल्दी प्लीज़... वो.. हॅरी उसको....!

निलू-और पापा आपको मेरी सहेली कैसी लगी? शेखर-तुम दोनों बहुत प्यारी हो।मैं इतना ही बोल सकता हूँ कि तुम दोनों बहुत सेक्सी हो।निलू- अच्छा शालू , तुमको पापा का वो पसंद आया ना? तुम्हारे पापा के जैसा है ना? शालू शर्मा कर बोली- हाँ उनका भी ऐसा ही मस्त है , जैसे अंकल का है। ये सुनकर सब हँसने लगे।,रंगपंचमी हार्दिक शुभेच्छा हम तीनो किताबों में आँखें गड़ाए बैठे रहे.. किसी ने उसकी तरफ देखा तक नही.. सिवाय मेरे.. मैने भी बस हल्की सी नज़र उठा कर ही उसको देखा था...

News